Please wait...

Read : महाराष्ट्र राष्ट्रीय आपदा जोखिम सूचकांक में सबसे उच्च राज्य

Posted on :- 2018-06-12 14:37:55

  • भारत का पहला राष्ट्रीय आपदा सूचकांक का ड्राफ्रट रिपोर्ट केंद्रीय गृह मंत्रलय एवं यूएनडीपी द्वारा तैयार किया गया है.
  • सूचकांक के मुताबिक महाराष्ट्र सर्वाधिक आपदा जोखिम वाला राज्य है. उसके पश्चात पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश का स्थान है.
  • केंद्रशासित प्रदेशों में दिल्ली सर्वाधिक आपदा जोखिम है.
  • जिला स्तर पर देखा जाए तो आपदा जोखिम के प्रति सर्वाधिक प्रवण जिला पश्चिम बंगाल का 24 परगना है. दूसरे स्थान महाराष्ट्र का पुणे जिला है.
  • यह सूचकांक देश के 640 जिलों के नुकसान मानचित्रण एवं सुभेद्यता पर आधारित है.

Hot Facts

  • महाराष्ट्र – राजधानी – मुंबई, मुख्यमंत्री – देवेन्द्र फडनवीस, राज्यपाल – सी. विद्यासागर राव
  • लोकसभा सीटें – 48, राज्यसभा – 19, विधानसभा – 288

2. अरविंद सक्सेना को यूपीएससी का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया

  • अरविंद सक्सेना यूपीएससी (संघ लोक सेवा आयोग) के कार्यकारी अध्यक्ष होंगे.
  • अरविंद सक्सेना 1978 बैच के भारतीय डाक सेवा अधिकारी है. वह मौजूदा अध्यक्ष विनय मित्तल की जगह लेंगे.
  • वह यूपीएससी के अध्यक्ष पद पर 7 अगस्त 2020 तक अपने कार्यकाल पूरा होने तक कार्य करेंगे.

Hot Facts

  • संघ लोक सेवा आयोग – भारत के संविधान द्वारा स्थापित एक संवैधानिक निकाय है जो भारत सरकार के लोकसेवा के पदाधिकारियों की नियुक्ति के लिए परीक्षाओं का संचालन करती है.
  • संविधान के अनुच्छेद 315-323 में एक संघीय लोक सेवा आयोग और राज्यों के लिए राज्य लोक सेवा आयोग के गठन का प्रावधान है.
  • स्थापना – 1, अक्टूबर 1926

 3. बिना UPSC केंद्र सरकार अब करेगी ज्वाइंट सेक्रेटरी स्तर की सीधी भर्ती

  • केंद्र सरकार की ओर से 10 मंत्रालयों में ज्वॉइंट सेक्रेटरी के लिए वैकेंसी में बडा बदलाव किया है.
  • सरकार ने ब्यूरोक्रेसी में लैटरल एंट्री की शुरुआत कर दी है. यानी, ब्यूरोक्रेसी का हिस्सा बनने के लिए यूपीएससी की परीक्षा पास करना जरूरी नहीं होगा. प्राइवेट कंपनी में काम कर रहे बड़े अधिकारी अब सरकार का हिस्सा बन सकेंगे.
  • सरकार की ओर से तर्क दिया गया है कि इससे मंत्रालय देश के ज्यादा अनुभवी लोगों का लाभ ले पाएगा.

 4. यात्रियों की शिकायतों के निवारण की प्रक्रिया को सुधारने एवं तेज करने के लिये ‘रेल मदद’ एप

  • केंद्रीय रेल और कोयला मंत्रीश्री पीयूष गोयल ने यात्रियों की शिकायतों के निवारण की प्रक्रिया को सुधारने एवं तेज करने के लिये‘रेल मदद’ नाम से एक एप जारी किया है.
  • रेल मदद (यात्रा के दौरान वांछित सहायता के लिये मोबाइल एप्लीकेशन) नामक इस अनोखे मोबाइल एप्लीकेशन का विकास उत्तर रेलवे द्वारा किया गया है.
  • यह एप यात्रियों की शिकायतों को दर्ज करेगा और उनकी शिकायतों के निवारण की स्थिति के बारे में उन्हें लगातार जानकारी मुहैया करायेगा.
  • साथ ही श्री पीयूष गोयल ने रेल यात्रा के दौरान परोसे जाने वाले भोजन या खाद्य पदार्थों के बारे में रेल यात्रियों के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए आईआरसीटीसी द्वारा विकसित एक नए मोबाइल एप ‘मेन्‍यू ऑन रेल्‍स’ को लॉन्च किया.

5. भारतीय मौसम विभाग FFGS सिस्टम की मदद से बाढ़ का पूर्वानुमान जारी कर सकेगा

  • भारतीय मौसम विभाग (IMD) नए सिस्टम और मिट्टी के परीक्षण के आंकड़ों की मदद से जल्द ही बाढ़ का पूर्वानुमान भी जारी कर सकेगा.
  • IMD फ्लैश फ्लड गाइडेंस सिस्टम (FFGS) की मदद से इस सर्विस को लॉन्च करने की तैयारी कर रहे हैं.
  • अभी केंद्रीय जल आयोग (CWC) बाढ़ की चेतावनी जारी करता है.
  • एफएफजीएस की मदद से अलग क्षेत्रों के लिए अलग-अलग बाढ़ का पूर्वानुमान जारी किया जा सकता है. इसके लिए उनकी भौगोलिक स्थितियों के अध्ययन और वर्षा के पूर्वानुमान से मदद मिलेगी.